Parvathy Wins The Internet On Arjun Reddy But Vijay Deverakonda Is Not Happy | ‘Arjun Reddy’ on criticism of raging triumph reworked, said

Parvathy Wins The Internet On Arjun Reddy But Vijay Deverakonda Is Not Happy | 'Arjun Reddy' on criticism of raging triumph reworked, said

Over the last few days from the South superstar Vijay reworked and Parvati three between conversation constantly getting viral is. Both in a talk show with rushed in where both of these ‘Arjun Reddy’ ranging debate to be had. In the show while talking Parvati ‘Arjun Reddy’ than ‘the Joker’ from mental illness to normal told. Parvati of this statement only after them on social media troll came to be. However, since Parvati on your statement apologizing Lee was.

While, Parvati’s statement from conquest reworked too heavily displeased. Conquest believes that Parvati three of ‘Arjun Reddy’ on reaction inexplicably MEA is holding. International Film Festival of India of a co-op during its corresponding irritating to the statement while the victory reworked, “said I at this moment quite upset I am, I inexplicably in opposition to and could not endure. I have this irritating to your insides can’t keep up, I call it out to bring to the AM, because if I have it placed inside so these are my inside a tumor will become”.

बता दें कि पार्वती थ्रिवोथु ने फिल्म अर्जुन रेड्डी में क्राइम को ग्लैमराइज करने के खिलाफ बात कहते हुए कहा था, “’अर्जुन रेड्डी’ और ‘कबीर सिंह’ में आप एक खास प्रकार का ग्लोरिफिकेशन देखते हैं जो कि ‘जोकर’ फिल्म में नहीं दिखाई देता है. ‘जोकर’ फिल्म देखते हुए किसी भी वक्त मुझे जोआकिन को देखकर ये नहीं लगा कि ‘अरे यार मैं इसके साथ एकदम सहमत हूं. उसको सबको मारना ही चाहिए.”

उन्होंने ये भी कहा, “हम किसी ट्रेजेडी को देखते हैं और उसको फॉलो करने की चाह को लेकर आगे बढ़ने की बजाए, वहीं छोड़कर आगे बढ़ सकते हैं. जबकि अगर आप इस तरह की कहानी कह रहे हैं जिसमें आप बताते हैं कि रिलेशनशिप में पैशन तभी माना जाएगा जब आप एक दूसरे को थप्पड़ मारते हैं और जिस तरह के कमेंट मैं यूट्यूब पर पढ़ती हूं कि लोग इससे सहमत हैं, ये दरअसल एक भीड़ की मानसिकता को हिंसा की तरफ उकसाने जैसा है”.

विजय देवरकोंडा ने पार्वती के इसी आलोचना पर रिएक्शन देते हुए कहा, “मुझे लगता है कि मुझे गलत समझा गया है. मैंने इस सवाल का बुरा नहीं माना. मैं पार्वती को पसंद करता हूं, लेकिन मुझे सोशल मीडिया पर मौजूद लोगों से तकलीफ है. लोग सीमाएं लांघ जाते हैं. वो नहीं जानते कि वो क्या बात कर रहे हैं. मुझे ये बात नापसंद है कि लोग इस पर बात कर रहे हैं और भुगतना मुझे पड़ रहा है.”

Published: 29 Nov 2019 03:05 PM

Avatar
Catherine Feather is a Data Engineer with expertise in Python, Pandas, Numpy, Web Scraping, Pyspark, SQL and MongoDB. She analyses the business concerns and supports the company to manage them adequately. She is also a bookworm so, when not working you will find her lost in a book. Jane Austen is her favorite author!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here